Friday, 5 February 2016

Pahla Sukh Nirogi Kaaya - Health Benefits Of Turmeric


पहला सुख निरोगी काया - Happyness is a healthy body


स्वास्थ्य हमेशा से एक गहन गूढ़ का विषय रहा है । होगा ही, क्योंकि अगर स्वास्थ्य है तो सब कुछ है अन्यथा कुछ भी नहीं । एक स्वस्थ व्यक्ति को संसार हमेशा सूंदर दिखाई देता है परंतु एक अस्वस्थ व्यक्ति को हर रंग बेरंग ही नजर आता है ।

इसी विषय पर आज मैं आप सबके लिए सरलता से घर घर में उपलब्ध गुणकारी हल्दी से स्वास्थ्य लाभ लेने के कुछ अति साधारण नुस्खे ले के आया हुं, इसका लाभ अवश्य लें ।

किसी भी मौसम और खासकर सर्दियों के मौसम में यदि आप स्वस्थ रहना चाहते हैं, तो आपको अपनी दिनचर्या और खाने-पीने में कुछ नियमों को अपनाना चाहिए।

आज हम हल्दी, जो कि एक बहुत ही गुणकारी औषधि है, के बारे में विस्तृत रूप में जानेंगे ।

हल्दी का वानस्पतिक नाम 'कुरकुमा लौंगा' है । वैज्ञानिक खोज के अनुसार हल्दी में एक तत्व पाया जाता है जिसका नाम है 'करक्यूमिन' जिसके बहुत ही फ़ायदे है । आइये जानते है हल्दी के फ़ायदो के बारे में :

१) हल्दी न केवल हमारे शरीर में रक्त को शुद्ध करती है बल्कि हमारे शरीर के ऊर्जा प्रवाह को भी सुचारू रूप से नियंत्रित करती है । हल्दी केवल बाह्य रूप में ही शरीर को फायदा नहीं पहुँचाती बल्कि हमारे शरीर के पुरे आतंरिक ऊर्जा तन्त्र को भी संचालित करती है ।

आप एक चुटकी हल्दी को एक बाल्टी पानी में मिलाये और इस हल्दी युक्त जल से स्नान करे, स्नान करने के बाद आप पाएंगे की आपकी त्वचा जीवंत हो उठेगी और आपको त्वचा में एक अद्भुत चमक का एहसास होगा ।

२) हल्दी ठण्ड के मौसम में बहुत ही उपयोगी है । बहुत से लोग ठण्ड के दिनों में सवेरे-सवेरे नाक बंद होने की समस्या से जूझते है ऐसे में हल्दी आपको राहत प्रदान कर सकती है । हल्दी, कालीमिर्च और शहद के मिश्रण को रात में लेकर सोने से आपको उपरोक्त समस्या से निजात मिल सकती है ।

३) हल्दी को ख़ाली पेट लेने से यह एक बहुत ही प्रभावकारी रूप से शरीर की आंतरिक सफ़ाई करती है । इससे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता में इजाफा होता है । इससे शरीर कई बीमारियों से बचा रहता है।

हल्‍दी में पाया जाने वाला 'लिपोपोलिसेकराईड' तत्‍व हमारे रोग प्रतिरोधक तंत्र को मजबूत बनाकर बीमारियों से हमारी रक्षा करता है।

४) चेहरे से दाग-धब्बे और काली झाइयां हटाने में हल्दी का कोई सानी नहीं। हल्दी और काले तिल को बराबर मात्रा में पीसकर पेस्ट बनाकर लगाने से आपकी त्वचा साफ और निखरी हो जाती है। हल्दी और दूध से बना पेस्ट भी त्वचा का रंग निखारने और चेहरे की कांति को बरक़रार रखने के लिए बहुत असरदार उपाय हैं।

५.) चोट लगने के समय हल्दी बहुत ही उपयोगी होती है । चोट से घाव बन गया हो या फिर मोच आ गई हो तो आप हल्दी के पेस्ट बनाकर उसको चोट वाली जगह पर बांधने से बहुत फायदा होगा और चोट से होने वाला संक्रमण भी समाप्त हो जाता है।

हल्दी वाले दूध के सेवन से भी चोट भीतर से ठीक होने लगती है।

६) मसाले के रूप में प्रयोग की जाने वाली हल्दी का सही मात्रा में प्रयोग पेट में जलन एवं अल्सर की समस्‍या को दूर करने में बहुत ही लाभकारी होता है।

हल्दी में पाया जाने वाला 'कुरकमिन' नामक तत्व के कारण ऐसा होता है और यही चिकित्सा में प्रभावी होता है। चिकित्सा क्षेत्र में शोध के मुताबिक 'कुरकमिन' पेट की बीमारियों जैसे जलन एवं अल्सर में काफी प्रभावी रहा है।

ऊपर आपने हल्दी के अनके प्रयोगो के बारे में जाना है अब आपको बताते हैं हल्दी वाले पानी को पीने के फायदे :-



हल्दी वाला पानी को बनाने के लिए आपको 1 गिलास पानी में छोटी चुटकी हल्दी डालनी है। हल्दी वाले पानी को पीने से आप दिल संबंधी अनके बीमारियों से बच सकते हो साथ ही आपका दिल हमेशा स्वस्थ रहेगा।

हल्दी वाले पानी का सेवन दिन में 3 से 4 बार भी करने से कोई नुकसान नहीं होगा। आपकी सेहत हमेशा ठीक रहेगी। हल्दी वाले पानी को पीने का एक और फायदा यह है कि आप विभिन्न बीमारियों से जैसे किडनी की परेशानी, खून की समस्या, लीवर और हार्ट जैसे रोगों से मुक्त रहोगे ।

तो आज आपने हल्दी के कई सारे औषधीय गुणों के बारे में जाना ।  आपने यह भी जाना की हल्दी आपकी सेहत के लिए कितनी फायदेमंद है। इसलिए हल्दी का सेवन आप अवश्य करें ।

आगे भी मैं कोशिश करूँगा इसी तरह की कुछ अन्य स्वास्थ्य से सम्बंधित सूचनाएं आप तक पहुँचाने की । क्योंकि कहते हैं ना "पहला सुख, निरोगी काया ।"

Click here to read सेहत के शत्रु by Sri Shiv Sharma


संकलन अर्पित जैन




2 comments: